अपनों ने दुत्कारा, गैरों ने अपनाया

1498083_782834581778172_5482904822886351273_o

1779260_651478131580485_1079130816_n

आगरा : आज के इस बदलते समाज में जहां कोई किसी मदद बिना किसी मतलब के नहीं करता, यहां तक के कुछ लोग तो ऐसे होते हैं जो अपने बुजुर्ग मां-बाप को बोझ समझकर भरे-पूरे परिवार के होते हुए भी उन्हें अनाथ आश्रम की दहलीज पर छोड़ जाते हैं, पर वहीं कहते है ना हाथ की पांचों उंगलियां भी कभी बराबर नहीं होती, और हर कोई एक जैसा नहीं होता, जी हां इसी का एक जीता-जागता उदाहरण है, आगरा में रहने वाला एक परिवार जो बिना किसी स्वार्थ के न केवल गरीब लोगों की मदद करता है बल्कि उन बेजुबान जानवरों की भी मदद करता है जो अपने खुद दर्द को कभी शब्दों में बयां नहीं कर सकते, आगरा में रहने वाली विनीता आरोड़ा और उनके पति सुनील अरोड़ा काफी लंबे समय से निस्वार्थ भाव से गरीब बेसहारा बच्चों और बेजुबान जानवरों की सेवा कर रहे है, सुनील अरोड़ा पेशे से एक कामयाब बिजनेस मैन हैं तो वहीं उनकी पत्नी विनीता आरोड़ा कई ऐसे एनजीओ से जुड़ी हुई हैं जो न केवल गरीब बच्चों की मदद करते है बल्कि उन्हें पढ़ाने लिखाने की भी जिम्मेदारी उठाते है, विनीता अरोड़ा ने एक खास बातचीत में बताया की वह मदर टेरिसा से काफी प्रभावित है और जानवरों के प्रति उनका लगाव बचपन से ही रहा है विनीता ऐसे जानवरों की मदद करती हैं जिन्हें बीमार होने पर उनके मालिक उन्हें घर से निकाल देते है, विनीता न केवल ऐसे जानवरों को न केवल एक अच्छा घर दिलाने में मदद करती है बल्कि उनका इलाज भी अपने बच्चों की तरह कराती है और इसमे इनकी मदद करता है इनका बेटा अभिमन्यु और बेटी अभिलाषा, विनीता ने बताया की इस काम में उनके कई दोस्त उनकी हर प्रकार से मदद करने को हमेशा तैयार रहते हैं, हाल ही में विनीता अरोड़ा ने स्ट्रीट डॉग्स की देख-रेख के लिए एक ‘कैस्पर्स होम’ खोला, जहां वो अपने परिवार के साथ मिलकर बेसहारा स्ट्रीट डॉग्स की देख-भाल करती है और उनके लिए सही और नया घर ढूंढने में लगी रहती हैं

11068095_877249172336712_323017389632861788_o

12241487_909092522500016_9139373051657294716_n